Posts

क्या मासिक धर्म में व्यायाम करना चाहिए ?

Image
इस वीडियो से आप के सभी शंकाओं का समाधान मिलेगा |

मासिक धरम में बहुत खून आने  पर व्यायाम न करे व रेस्ट करे व खून ख़तम होने पर आप रेगुलर व्यायाम करे |  साधारण मासिक धरम ३ से ४ दिन का होता है | यदि इससे से ज्यादा हो तो अपना प्राकृतिक इलाज कराये |

हर्निया का प्राकृतिक ईलाज

Image
नमस्कार प्रिय दोस्तों, आज, मैं आपको "प्राकृतिक चिकित्सा के साथ हर्निया की समस्या को कैसे ठीक कर सकता हूं" के बारे में बताऊंगा। मुझे लगता है, आपको हर्निया की अवधारणा पता है, अगर आपको अभी भी हर्निया की समस्या को समझने का संदेह है, तो मैं इसे सरल शब्दों में समझा सकता हूं।


हमारे पेट में, आंतों के दो प्रकार होते हैं। एक बड़ी आंत है और दूसरी छोटी आंत है। हमारी लंबी और बड़ी आंत का आकार 35 से 40 फीट और छोटी आंत 6 से 9 फीट के आकार की होती है। बेहतर समझ के लिए, आप पानी का पाइप ले सकते हैं। जैसे 35 से 40 फीट का पाइप, वही पाइप हमारी बड़ी और छोटी आंत है। इसकी मोटाई  एक इंच है। जीवन शैली की हमारी गलतियों के कारण, हम हर्निया की समस्या का सामना करते हैं।

उदाहरण के लिए, हमने अपना पेट बढ़ाया है। आंत में बड़ी डस्ट है और हम कई वर्षों से कब्ज का सामना कर रहे हैं या हमें किसी दुर्घटना का सामना करना पड़ सकता है या ऐसा होने के कई अन्य कारण हैं। यह शरीर का कोई भी हिस्सा हो सकता है लेकिन मुख्य हिस्सा छाती के नीचे और पेट के पास किसी भी तरफ होता है। अगर हमारे पेट की दीवार कमजोर है, तो यह टूट जाएगी और …

एसिडिटी / पेट की जलन का प्राकृतिक इलाज

Image
एसिडिटी / पेट की जलन क्या है?

हमारी खराब जीवन शैली और बुरी सोच के कारण हम किसी भी प्रकार का खराब खाना खा सकते हैं और अगर शरीर में दोष होगा, तो हम एलोपैथिक की छोटी दवा खा सकते हैं और हम स्वस्थ हो जाएंगे। हम इस बुरी सोच को दोहराते हैं और सभी खराब भोजन खाने लगते हैं जो हमें बाजार में मिलते हैं और जो रसोई में बनाते हैं |


इस गलत सोच और गलत खानपान के कारण हमारा भोजन वापस मुंह में जाएगा। इस भोजन में, एसिड होता है। क्योंकि यह पेट से ऊपर भोजन नली तक आएगा, इसलिए, यह पेट में जलन व दिल की जलन और सीने में दर्द लाएगा। रिफ्लक्स का मतलब होता है समुद्र में ज्वार  भाटा  आना  । इस तरह, हमारा बिना पचा भोजन भोजन नली में चला जाएगा और यह आपको बहुत दर्दनाक अनुभव देगा। आपको हार्ट अटैक महसूस होगा लेकिन यह हार्ट अटैक नहीं है बल्कि यह एसिडिटी है। यदि यह कई दिनों या महीनों में होगा, तो यह एलसर में बदल जाएगा और फिर यह कैंसर में बदल जाएगा।


अब, इसके होने की जड़ पर आते हैं। इसके होने के तीन प्रमुख कारण हैं



1. छोटी और बड़ी आंत में डस्ट  होना 



अधिक से अधिक खराब भोजन खाने और आपकी छोटी और बड़ी आंत में कोई हलचल न होने के का…

डरो नहीं Pain से - गुरु गोबिन्द सिंह जी के बहादुरी के विचार

Image
इस वीडियो में डॉ. विनोद कुमार ने आपके सभी शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक दर्द से लड़ने के लिए और आपके जीवन में भय को दूर करने के लिए गुरु गोबिन्द सिंह जी  के बहादुरी विचारों को समझाने की कोशिश की।

जुबान पर नियंत्रण कैसे करे?

Image
मानव शरीर में जीभ महत्वपूर्ण अंग है। आप इससे दो काम कर सकते हैं। आप इसे अपने भोजन का स्वाद ढूंढने के लिए उपयोग करते हैं और बातों के माध्यम से दूसरों को अपने विचारों को संवाद करने के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं। लेकिन, जब आपकी जीभ फिसल जाती है और out of control से बात करना शुरू कर देती है, तो आप क्रोध की समस्या और तनाव की समस्या और झूठ बोलने में पड़ सकते हैं। सभी आपको अस्वास्थ्यकर बना देंगे। इसलिए,

इस वीडियो के साथ, आप जीभ को नियंत्रित करने के लिए सरल एक बेहतरीन विधि सीखेंगे

यह वीडियो आपको अपनी जीभ को नियंत्रित करके आराम करने में मदद करता है।

यह वीडियो आपको जीभ की पर्ची के कारण सभी प्रकार के क्रोध को रोकने में मदद करेगा।

पेट गैस का इलाज

Image
आओ आज हम आपके पेट गैस का इलाज करे



प्राकृतिक रूप से कैसे हम अपनी गर्दन का दर्द दूर कर सकते है?

Image
आज हम आप को यह बतायेगे कि कैसे आप अपने गर्दन का दर्दसर्वाइकल दर्द से कैसे राहत प्राप्त कर सकते हो |  कैसे इसे ठीक कर सकते हो | इस में जो आठ घंटे है वो आप ने सोने को दे दिया आठ घंटे अपने काम को दे दिया | जो लास्ट ८ घंटे है वो बैलेंस नहीं होगा उसमें हर चीज को बैलेंस टाइमनहीं दिया जायेगा या आप सारा टाइमएंटरटेनमेंटको दे दोगे | एक्सरसाइज नहीं करोगे व अपनी हॉबी में टाइम नहीं दोगे व आप अपनी हेल्थ में टाइम नहीं दोगे | आप अपनी साफसफाई में ध्यान नहीं दोगे उससे कोई न कोई आप कोदर्दबीमारी आप को आ जाएगी |  तो जिंदगी जो है बैलेंस होनी चाहिए |

यदि आप को गर्दन का दर्द या सर्वाइकल दर्द है तो आप अपनी गर्दन को घुमा नहीं सकते | अगर घूमने की कोशिश करोगे तो दर्द शुरू हो जाता है |  देखो गर्दन में मसल्सहै | यदि स्ट्रेस की वजह ें मसल्स में tightness आता है तो आप को दर्द महसूस होना शुरू हो जाता है |  गर्दन की जो हडी है उसमें जोड़ है यदि उस में जो जोड़ है वह दब गया है तो भी दर्द होगा , यदि उससे कोईनर्वदब गयी है हो भी दर्द होगा | इसके इलावा आप यह भी देखिये यह जो गर्दन है यह आप कीज्ञान इन्द्रियों को कर्म इन्द्…

Latest Contents in Hindi

Latest Health Education Contents in English