Header Ads

पेट के वायु गोला का उपचार




दोस्तों आज हम आपको बतायेगे कि कैसे आप अपने पेट के वायु गोले का प्राकृतिक इलाज कर सकते हो | जिसे हम गुल्म या गैस बॉल भी कहते है | देखो दोस्तों मैं पहले भी ऐसी विषय पर वीडियो बना चूका हु , यदि नहीं देखा तो अभी देख ले |


वायु गोला क्या है?


किस वियक्ति का जीवन जीने का तरीका बहुत अच्छा होता है किसी का बहुत ख़राब होता है | किसी का बिच का होता है | जिन का बहुत अच्छा लाइफ स्टाइल होता है वो भी कभी कभी अपना लाइफ स्टाइल किसी मिस्टेक की वजह सी अपना ख़राब लाइफ स्टाइल बना लेते है | जिस की वजह से ही गैस का गोला बनता है | मतलब गलत खानपान , गलत व्यवहार तथा गलत थिंकिंग की वजह से आप के अंदर ऐसे विष पैदा होते है जिसकी वजह से आप की गैस बहार नहीं जाती तथा आप की नाभि के ऊपर एक गोला टाइप बन जाता है | जिस में आप को दर्द हो भी सकता है या नहीं भी | आप को कब्ज रहेगी |  आप को भविष्ये में यह समस्या आ सकती है यदि आप को इसका सिम्प्टम पहले पता लग जाये तो उसे रोकने का उपाय भी किया जा सकता है | अगर आप टॉयलेट जाते हो व आप के मल दुवार में आप का टॉयलेट चिपकता है तो इसका मतलब गैस की कोई न कोई ब्रांच आप के पेट में बनाना स्टार्ट हो जाएगी | किस भी जानवर को देखो उनका मल मलद्वार पर नहीं चिपकता |


वायु गोले की समस्या का प्राकृतिक हल 


१. आप वायुगोला के कारण ख़तम कर  दे वायु गोला अपने आप ख़तम हो जायेगा | 

  • पार्टीज में खकना बंद करे 
अभी ओक्टुबर आ गया नेक्स्ट मार्च तक बहुत सारी  शादिया होंगी किसी  के जनम दिन होंगे | है किसी  की मृत्यु भी होगी | तो क्या है के बहुत सरे चीजे जैसे मैदे की पुड़िया व छोले जिस को उबलने के लिए उसमें बहुत सारा कास्टिक सोडा डाला जाता है | यह सब चीजे एक तो पेट में विष पैदा करती है व आप को पेट के वायु गोले की भी समस्या करती है |  हर खाया गया मैदे का सामान पेट में कब्ज करती है व पचता नहीं जिसमें से गैस निकलती है | आप के अंदर जो छोटी आंत है वो ४० फ़ीट व छोटी आंत १० फ़ीट लंभी है उसमें आप का कचरा साफ नहीं होता है | जिस की वजह से गैस इकठी  होती होती एक गोला टाइप बन जाती है | अगर यह दिल की तरफ चली जाये तो वह दर्द जिसे दर्द  कहते है  हो जाता है | एसिडिटी बनना शुरू हो जायेगा 



  • बासी भोजन खाना 

आज फ्रिज सब के घर में है व् सभी मताये व बहने ३ ३ दिन का आटा इक्ठा मल लेती है जिस से फ़ूड पाइजन होता है व गैस बनती है | यही आगे जा कर वायु गोले का रूप ले लेता है |  इस लिए इस बसी भोजन को खाना बंद करे | दाल आज बच गयी है कल इसको बना देंगे | यह गलत है |


  • मल मूत्र के प्राकृतिक वेग को रोकना 
जो भी व्यक्ति पुरष या मिहला मल मूत्र के प्राकृतिक वेग को रोके गा उसे वायु गोले के बीमारी लग सकती है | क्योकि यह दुबारा कोशिश करने पर नहीं आता व किडनी व पेट पर इसका गलत प्रभाव पड़ता है | इसलिए कभी भी मल मूत्र के प्राकर्तिक वेग को न रोके | 



  • रात को देर तक जागना 
जो व्यक्ति रात को देर तक जागते है उनको प्राकृतिक रूप से कब्ज हो जाती है जिस की वजह से वायु गोला बनता है | यदि जरूरी कार्य भी हो तो उसे सुबह के समय ही करना चाहिए | हर इंसान को आठ घंटे सोना जरुरी है पर को कौन सा समय निश्चित है यह बहुत ही इम्पोर्टेन्ट है आप की सेहत के लिए |  तो भूल कर भी रात को देर तक न जागे |  एक बार आप की जठा अग्नि मंद हुयी आप का गैस गोला बढ़ता जायेगा | 




  • अप्राकृतिक भोजन नहीं खाना 


आप ने मास मच्छी व अंडा नहीं खाना है | इससे गैस का गोला बढ़ जायेगा | चाहे ब्रयानी आप की फवोरिट हो तो भी इसे  नहीं खाना | या आप की जिंदगी देव पर लगी है | सयम बहुत आवश्यक है | एक बार गोला बना व न निकला तो वः हमेशा बनता रहेगा | आप ने चाय न पिए


२. टॉयलेट जाने से पहले पानी व हल्का पेट की एक्सरसाइज जरूर करे 



यदि आप सुबह टॉयलेट जाने से पहले पानी पीते  हो व पेट का व्यायाम करते हो तो यह पेट को गर्म करेगा व आप को कभी कब्ज नहीं रहेगी |  व कभी गैस का गोला नहीं बनेगा |


३. प्राकृतिक दवाईया इस्तमाल करे 


यह ऐसी प्राकृतिक दवाईया है जो गैस गोले को बनने नहीं देती यदि है तो ख़तम कर  देंगी |  इन का मैंने भी इस्तमाल किया है |  इसमें है अजवायन व काला नमक , अदरक व आवला


४. हमेशा ही सकरात्मक भावनाये रखे 

आप का अपनी भावनाओं पर कण्ट्रोल होना चाहिए | यदि कण्ट्रोल नहीं होगा तो नकरात्मक भावनाये आप पर ही हावी हो जाएगी जिस से वायु गोला बनता है | आप ने कभी भी गुसा , एहंकार व जलन मन में नहीं लेकर आनी हमेशा ही प्यार व विश्वास व आशा की भावना रखनी है |

यदि आप किसी भी समस्या का व्यक्तिगत उपचार लेना चाहते हैं, तो कृपया हमसे संपर्क करें

ए) व्हाट्सएप पर: हमारा व्हाट्सएप एम.एन. + 91-935623492

No comments

Powered by Blogger.