Header Ads

आईबीडी का प्राकृतिक चिकित्सा उपचार




 दोस्तों आज हम सीखेगें कि  कैसे हम ibd का प्राकृतिक इलाज कर सकते है | देखिये जो इन्फ्लेम्शन आप के बाउल में हुई है उसको ठीक करने के लिए पहले तो बहुत सी एंटी बोटिक दे जाती है फिर उसी का रिएक्शन हो जाता है |  समस्या और भी बढ़ जाती है | फिर डॉक्टर रेकमेंड करते है के आप के कोलन को निकल देते है आप प्रोक्टोकॉकलेक्टोमी करा लीजिये |  या आप फिर आप कोलोस्की लगा ली जिए | एक बैग लगा देंगे आप के कोलन को काट के | वही से आप अपना पेट साफ करोगे तो यह तो उनका सिस्टम है |

सबसे पहले इसका इलाज करने से पहले हम आप को बता देते है है के IBD क्या होता है |

इसे इंग्लिश में कहते है inflammatory bowel disease (IBD ). इसका मतलब है के परमपिता परमात्मा ने पूरी बॉडी में एक इम्यून सिस्टम बनाया हुआ है | जैसे ही कोई इन्फेक्शन बॉडी में अटैक करता है तो हमारा जो बॉडी है वह रेडनेस कर देता है वह जगह burn krna start कर देती है | हमारे दीजेस्टिव सिस्टम मुँह से स्टार्ट होता है व हमारे गुदा दुवार तक जाता है |य कोई भी वायरस, बैक्टीरया या इन्फेक्शन के कीटाणु अटैक करते है तो हमारा ब्रेन इसको ख़तम करने के लिए उस जगह को ही burn करना start कर देता है व इम्मून सिस्टम ऐसे रेड कर देता है | तो इसी  को हम IBD कहते है |

इस दौरान आप को बहुत साडी समस्या आएगी |

१) आप के पेट में दर्द होगा
२) आप को भूख कम लगेगी
३ ) आप को बहुत थकावट होगी
४) रात को इसकी वजह से आप को नीद नहीं आएगी

क्या आप IBD समस्या का सामना कर रहे हैं?

 क्या आपको लंबे समय से कब्ज या लूज मोशन है?

 क्या आपको पेट में दर्द है?

 क्या आपको अल्सरेटिव कोलाइटिस है?

 क्या आपको क्रोहन की बीमारी है?

 क्या आप थकान महसूस कर रहे हैं?

 क्या आपके मल में खून है?

 क्या आप पूरे दिन भोजन की भूख महसूस नहीं कर रहे हैं?

 यदि एक या अधिक प्रश्न का उत्तर दिया गया है, तो आपको इस वीडियो से स्वाभाविक रूप से अपनी IBD समस्या को ठीक करने पर ध्यान केंद्रित करना होगा।

 पहला चरण: रोजाना 10 से 12 घंटे की नींद लें 
 दूसरा चरण: नॉन वेज खाने के लिए रुकें। , अंडे, तैलीय भोजन, नमक, चीनी और कृत्रिम मिठाइयाँ। 
 तीसरा चरण: अधिक फाइबर खाएं
 4 स्टेप: ज्यादा जूस पिएं 
 5 वां चरण: 32 बार चबाना 
 6 वां चरण: नियमित व्यायाम, योग और पैदल चलना और दौड़ना करें।

No comments

Powered by Blogger.