भाई, चाचा, पिता जमीन का बंटवारा नहीं करता, क्या करें

 भाई, चाचा, पिता जमीं बंटवारा नहीं करता, क्या करें


इसके लिए मेरे पास एक ही रास्ता है जो हमारे ऋषि मुनियों का है जिस से आप को सुख व शांति मिलेगी 


बड़े भाई को वेदों में पिता के  समान माना गया है व छोटे भाई को बेटे के समान 

पिता का दर्जा आसमान से भी उच्चा होता है क्योकि उसने अपने अमूल्य  वीर्य रूपी धन se तुम्हें पैदा किया है 


इस लिए यदि वो बंटवारा नहीं करते तो उनकी गलती को माफ़ कर दो व आज से ही ब्रह्मचर्य का पालन शुरू कर दो क्योकि इस से बड़ी कोई जयदाद नहीं है आप का वीर्य रूपी ज्यादाद कोई आप से ले नहीं सकता कोई इसका कब्जा नहीं कर सकता 

इससे आएगा आप को बुद्धि बल जिस से धन भी आएगा व आप नई जायदाद खरीद लेना 


श्री राम जी इसी रस्ते पर चल कर महान बने 


चाचा भी पिता समान होता है व उसके लिए आप पिता को कह सकते है यदि धार्तराष्ट्र जैसा चाचा है तो कृष्ण की निति ठीक है 


पर फिर भी प्यार सबसे आगे, क्योकि पांडव की पिता नहीं थे आप के है इसलिय युद्ध का समय नहीं आया | अभी ब्रह्मचर्य पर ध्यान केंद्रित करे 


ब्रह्मचर्य के सो लाभों को पड़े 


Comments