Header Ads

दही खाने के 15 अनसुने तथ्य


दही खाना सभी को पसंद होता है लेकिन कम ही लोग जानते हैं कि दही कब, कैसे और किस के  साथ में खाना चाहिए। 
दही के खाने के बारे में इन सभी तथ्यों को जानें।

1. दही ठंडा होती  है। इसे ठंडी चीजों के साथ ठंडा  खाएं


दही की प्रकृति ठंडी होती है। इसलिए कभी भी इसके साथ गर्म पानी, गर्म चीजें न पिएं।
 दही को खाने के लिए कभी भी गर्म ना करें। शादी की पार्टियों और अन्य पार्टियों में एक बुरी बात यह है 
कि आप दही (दही भाला) को टिकी-शोले और अन्य गर्म चीजों के साथ खाते हैं और
 सभी कमजोर आपकी प्रतिरक्षा  Ko kamjor krte हैं।

2. गर्मियों में सुबह और दोपहर में ताजा दही अच्छा होता है

3. प्याज, दूध, मुली, लहसून, दूध, नमक और फलों ke sath dahi ka परहेज करें


अकेला सबसे अच्छा है।

4. अच्छा संयोजन गुड़ या शेकर + दही या मीठी लस्सी के शेकर लेकिन 

अधिक नहीं और हमेशा नहीं। 


5. खट्टा और पुराना दही जहर होता है। ताजा दही का ही प्रयोग करें।


लोग रोज करी चावल बनाने की कोशिश करते हैं। 


 इसमें ज्यादातर पुरानी और खट्टी लस्सी का ही इस्तेमाल hota hai
एक तो उन्हें इससे पोषण नहीं मिलता और
 दूसरा वे अन्य अच्छी चीजों को उबालने में आलस के कारण रोजाना hi basa खाकर 
शरीर को एक छोटा सा विष ले लेते हैं।

6. खांसी या जुकाम हो तो दही का प्रयोग न करें


7. शरीर के दर्द में दही से परहेज करें क्योंकि इससे दर्द बढ़ेगा


8. धूप या भारी कसरत से आने से खून की गर्मी बढ़ जाती है, 

कभी भी दही न खाएं।
 

सामान्य मिट्टी के पानी की लस्सी ठीक है।


9. कब्ज में दही से परहेज करें लेकिन हां ताजी लस्सी अच्छी होती है


10. शाम और रात में दही से परहेज करें


11. भारत में दही खाने का सबसे अच्छा समय: अप्रैल से अगस्त तक


12. देसी गाय के दूध का दही औरों से बेहतर होता है


13. मिट्टी के बर्तन में दही बनाना अच्छा होता है


14. ताम्बे के बर्तन में दही कदापि न रखें


15. फ्रीज और ठंडी दही कभी न खाएं, इससे सेहत की जगह सर्दी ही आएगी। 



No comments

Powered by Blogger.