Header Ads

कत्था से करे ९ बिमारियों का इलाज

 


कत्था एक प्राकृतिक दवाई है जो बबूल जाती के वृक्ष खैर से तने व लकड़ी के अर्क को सूखा कर बनायीं  जाती है |  आप ने अपनी जिंदगी में पान खाया होगा | उसमें कत्था लगाते है | इस से आप अपनी बहुत सारी बीमारियों का इलाज कर सकते हो |  

इस में शीतलता का गुण होता है आओ जाने इसके लाभ 

१. मुँह में छाले निकलना 

बहुत गरम चीजे खाने से, घी ज्यादा प्रयोग करने से , ड्राई फ्रूट्स ज्यादा खाने से व पेट में कब्ज व लिवर में गर्मी होने से मुँह में छाले हो जाते है | इसका इलाज कत्था से किया जाता है | मेरी माँ बचपन में मेरे मुँह में हुए छाले को कत्था व छोटी एलची कुछ कर लगा देती थी आप भी ऐसा करे |

या मुँह में एक टिकी सफ़ेद कत्था की रखे व यह कुछ पल में पिगल कर पानी बन जाएगी व ऐसे ही ५ मिनट मुँह में गुगली करते रहे बाद में थूक दे. ऐसा दो तीन बार करने से ही आप के मुँह के छाले ख़तम हो जायेगे 


पान में सिर्फ लाल गिला कत्था लगाए व चबा चबा कर खाये | एक दो बार में ही छाले ख़तम हो जायेगे 

२. मसूड़े फूलना 

यदि मसूड़े फुले तो भी यही ऊपर वाला नुक्सा इस्तमाल करे 

या मुँह में एक टिकी सफ़ेद कत्था की रखे व यह कुछ पल में पिगल कर पानी बन जाएगी व ऐसे ही ५ मिनट मुँह में गुगली करते रहे बाद में थूक दे. ऐसा दो तीन बार करे 

३. खांसी होना 

सुखी खांसी होने पर यही ऊपर वाला नुक्सा इस्तमाल करे 

 मुँह में एक टिकी सफ़ेद कत्था की रखे व यह कुछ पल में पिगल कर पानी बन जाएगी व ऐसे ही ५ मिनट मुँह में गुगली करते रहे बाद में थूक दे. ऐसा दो तीन बार करे 

४. जुबान दांतो से कट जाना 


खाते हुए यदि जुबान कट जाये तो इस का इलाज भी कत्था से करे 

 मुँह में एक टिकी सफ़ेद कत्था की रखे व यह कुछ पल में पिगल कर पानी बन जाएगी व ऐसे ही ५ मिनट मुँह में गुगली करते रहे बाद में थूक दे. ऐसा दो तीन बार करे 


५. दन्त साफ करना 

कत्था को कूट कर पाउडर बनाये व इससे दन्त साफ करे क्योकि यह बाबुल की प्रजाति से से है इस लिए यह दन्त साफ करेगा 

६. गले की खराश 

यदि तेल वाली चीजे ज्यादा खाने से गले में खराश हो गयी है तो 

मुँह में एक टिकी सफ़ेद कत्था की रखे व यह कुछ पल में पिगल कर पानी बन जाएगी व ऐसे ही ५ मिनट मुँह में गुगली करते रहे बाद में थूक दे. ऐसा दो तीन बार करे 


इस से गले की खराश ठीक हो जाएगी 

७. बुखार 


बुखार में भी ऐसे इस्तमाल किया जा सकता है 

 मुँह में एक टिकी सफ़ेद कत्था की रखे व यह कुछ पल में पिगल कर पानी बन जाएगी व ऐसे ही ५ मिनट मुँह में गुगली करते रहे बाद में थूक दे. ऐसा दो तीन बार करे 


८. खट्टी डकार


यदि खट्टी डकारे आये तो 

 मुँह में एक टिकी सफ़ेद कत्था की रखे व यह कुछ पल में पिगल कर पानी बन जाएगी व ऐसे ही ५ मिनट मुँह में गुगली करते रहे बाद में थूक दे. ऐसा दो तीन बार करे 


९ कटने या चोट लगने पर 


यदि कहि कटने या चोट से घाव हो गया है तो वह कत्था का पाउडर लगाए 

No comments

Powered by Blogger.